Best 9 Home Remedies For Sore Throat & Cold Cough by Happy Health India

Best 9 Home Remedies For Sore Throat & Cold Cough in Hindi

Home Remedies For Sore Throat: गले में खराश (sore throat) एक सामान्य खांसी-सर्दी (cough-cold) का पहला लक्षण हो सकता है, मुखर डोरियों (vocal cords) में खिंचाव या स्ट्रेप्टोकोकी (streptococci) जैसे एक जीवाणु यानि कोई बैक्टीरियल संक्रमण (bacterial infection) भी जिम्मेदार हो सकता है। वजह चाहे जो भी हो, लेकिन यह समस्या बेहद आम है और हर तरह के सोर थ्रोट मे सबसे अहम है शुरुआत मे ही ऐसे उपाय करना जिनसे आपको तुरंत आराम मिले। परेशानी बढ़े नहीं।

ऐसी स्थिति मे अक्सर लोग भागकर डॉक्टर के पास जाना चाहते हैं, लेकिन एक्सपर्ट्स यह मानते हैं कि कुछ घरेलू उपाय और ओवर द काउंटर दवाएं भी जादुई असर दिखा सकती हैं। आइए जानते हैं गले में खराश और सर्दी खांसी में तुरंत राहत के लिए सर्वश्रेष्ठ 9 घरेलू उपचार के बारे में – Best 9 home remedies for quick relief in sore throat and cold cough in hindi.

home remedies for sore throat, sore throat in hindi, गले में इन्फेक्शन के लक्षण, गले में खराश, sore throat meaning in hindi, salt water gargle, sore throat cure at home, gargling for throat infection, throat pain cure at home, गले में खराश का इलाज,
Best 9 Home Remedies For Sore Throat and Cold Cough in Hindi

गले में इन्फेक्शन के लक्षण – Symptoms of Throat Infection

स्ट्रेप रोगाणु के संपर्क में आने के लगभग 2 से 5 दिन के बाद लक्षण दिखाई देते हैं या नहीं भी दिखाई देते है। कई बार इनमें से हल्के या गंभीर लक्षण हो सकते हैं। गले के संक्रमण के सामान्य लक्षणों सूची।

शरीर में दर्द

गले में दर्द

खाँसी आना

गले में खराश

सांस लेने में कठिनाई (हल्के से लेकर गंभीर तक)

निगलते समय दर्द होना

सिरदर्द

बुखार और ठंड लगना

सूखा गला या कंजेशन

भूख में कमी और स्वाद की असामान्य भावना

सूजी हुई, कोमल गर्दन की ग्रंथियां

बुखार जो अचानक शुरू होना और अक्सर दूसरे दिन सबसे ज्यादा बुखार शुरू होना। वही रोगाणु जो स्ट्रेप थ्रोट का कारण बनता है, साइनस संक्रमण या कान के संक्रमण के लक्षण भी पैदा कर सकता है।

Best 9 Home Remedies for Cough and Sore Throat in Hindi

गले में खराश, जिसे गले के दर्द के रूप में भी जाना जाता है, गले में दर्द या जलन होता है। गले में खराश आमतौर पर एक वायरल संक्रमण या समूह ए स्ट्रेप्टोकोकस (जीएएस) जीवाणु संक्रमण के कारण होता है।

Sore Throat meaning in hindi: गले में खराश

Sore Throat meaning in marathi: घसा दुखणे

Sore Throat meaning in kannada: ಗಂಟಲು ಕೆರತ (Gaṇṭalu kerata)

Sore Throat meaning in bengali: গলা ব্যথা (Galā byathā)

गले में खराश और सर्दी खांसी में तुरंत राहत के लिए सर्वश्रेष्ठ 9 घरेलू उपचार – Quick Remedy for Sore Throat

1. एंटी इन्फ्लेमेटरी – Anti-inflammatory

सोर थ्रोट के प्रभावी इलाजों मे से एक संभवत (Treatment of Sore Throat): आपकी फर्स्ट एड किट मे पहले से उपलब्ध होगा। यह उपाय है ओवर द काउंटर, नॉन स्टेरॉयडल एंटी इन्फ़्लेमेटरी ड्रग्स (NSAID)।

“ये दवाएं दर्द निवारक और एंटी इन्फ़्लेमेटरी (Anti-inflammatory) तत्वों से मिलकर बनी होती हैं। यही वजह है कि इससे सोर थ्रोट की वजह से होने वाली सूजन (Sore Throat) से राहत मिलती है। साथ ही अगर बुखार है तो उससे भी आराम मिलता है।”

2. नमक के पानी का गरारा – Gargling Salt Water

बहुत सारे अध्ययनों मे पाया गया है कि नमक के पानी का गरारा (Gargling Salt Water) कई बार करने से गले मे न सिर्फ सूजन बल्कि म्यूकस भी कम होता है। इसके साथ ही इरिटेंट्स और बैक्टीरिया भी बाहर निकल जाते हैं।

आमतौर पर डॉक्टर (Doctor) एक कप गरम पानी मे आधा चम्मच नमक घोलकर गार्गल (Gargle) करने की सलाह देते हैं। अगर नमक का टेस्ट अच्छा न लगे तो इसके साथ थोड़ा सा शहद भी मिला सकते हैं। एक बात याद रखें, गार्गल करके पानी को पिएं नहीं, इसे थूक दें।

यह भी पढ़ें: Thyroid Symptoms, Causes and Treatment in Women in Hindi

3. एंटीइन्फ़्लेमेटरी चॉकलेट्स – Anti-inflammatory Chocolates

एंटीइन्फ़्लेमेटरी चॉकलेट्स मुंह मे लार (Saliva in the Mouth) का प्रॉडक्शन बढ़ाते हैं, जिससे गले मे नमी बनी रहती है। हालांकि अधिकतर वैरायटीज़ अब सामान्य कैंडी से ज्यादा प्रभावी नहीं रह गए हैं। ऐसे मे ज्यादा फ़ायदे के लिए ऐसा ब्रांड चुनें जिसमे कूलिंग इफेक्ट हो, जैसे कि मेंथोल या यूकेलिप्टस।

4. कफ सिरप – Cough Syrup

भले ही आपको खांसी न हो, ओवर द काउंटर कफ सिरप (Cough syrups) आप के गले को आराम पहुंचा सकते हैं। ये गले मे एक परत कि तरह काम करते हैं और दर्द से कुछ समय के लिए आराम दिलाते हैं।

लेकिन अगर आपको काम पर जाना हो तो ऐसे फॉर्मूला वाला सिरप लें जिससे नींद न आए। लेकिन अगर आपको खांसी की वजह से नींद नहीं आ रही हो तो कोई ऐसा फॉर्मूला काम आ सकता है जिससे दर्द से राहत मिले और नींद आ जाए।

5. तरल – Liquid

हाइड्रेटेड रहना बहुत जरूरी है, खासतौर से जब आप बीमार हों और गले मे समस्या हो। ऐसे मे आपको भरपूर मात्रा मे पानी पीना (Drink Water) चाहिए। इससे म्यूकस मेंबरेंस मे नमी रहेगी और आपका शरीर बैक्टीरिया (Bacteria), इरिटेंट्स और कोल्ड के अन्य लक्षणों से लड़ने मे सक्षम रहेगा। पानी हमेशा बेहतर विकल्प होता है। लेकिन अपनी सुविधा और रुचि के हिसाब से आप पानी, फलों का जूस या सूप जैसी चीजें भी ले सकते हैं।

6. चाय – Tea

पानी पीकर थक चुके हैं तो एक कप हर्बल चाय (Herbal Tea) ट्राई कीजिए। इससे आपके गले को तुरंत आराम मिलेगा। आप नॉन-हर्बल चाय (Non-Herbal Tea) भी ले सकते हैं। ब्लैक टी (Black Tea), ग्रीन या व्हाइट टी (Green & White Tea) का इस्तेमाल इसके लिए कर सकते हैं।

चाय मे एंटीऑक्सीडेंट्स (Antioxidants) होते हैं जो इम्युनिटी बढ़ाते हैं और इन्फेक्शन से बचाते हैं। ज्यादा फायदे के लिए इसमे एक चम्मच शहद (Honey) भी मिला सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Health Benefits of Turmeric Milk, Water & Powder in Hindi for Men & Women

7. चिकन सूप – Chicken Soup

यह कोल्ड मे इस्तेमाल होने वाला बरसों पुराना नुस्खा है। सूप मे मिले सोडियम मे एंटी इन्फ़्लेमेटरी तत्व होते हैं। जब आप बीमार होते हैं तब सूप का अन्य लाभ भी होता है, अगर सोर थ्रोट (Sore Throat) की वजह से आपको तकलीफ हो रही है तो पीने की ऐसी चीजें आपको भरपूर पोषण देती हैं, जिससे आप इन्फेक्शन से आसानी से लड़ सकते हैं।

8. आराम – Rest

यह तुरंत राहत दिलाने वाला उपाय बेशक न हो, लेकिन सोर थ्रोट (Sore Throat) के लिए जिम्मेदार बैक्टीरिया से लड़ने मे यह महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। सोर थ्रोट (Sore Throat) के अधिकतर मामलों के लिए कोल्ड-कफ (Cold-Cough) के वायरस जिम्मेदार होते हैं और यह बात हम सब जानते हैं कि इन वायरस का कोई खास इलाज उपलब्ध नहीं है। ऐसे मे आराम करने से आपका शरीर वायरस से आसानी से लड़ता है और आपको जल्दी राहत मिलती है।

9. गले के संक्रमण के लिए एंटीबायोटिक्स – Antibiotic for Throat Infection

एंटीबायोटिक्स (Antibiotics) सिर्फ और सिर्फ उन मामलों मे डॉक्टर प्रेस्क्राइब करते हैं जिनमे सोर थ्रोट के लिए बैक्टीरिया जिम्मेदार होता है। एडल्ट लोगों मे सोर थ्रोट (Sore Throat) के तकरीबन 10% मामलों में इन्फेक्शन बैक्टीरियल (Infection Bacterial) होता है। लेकिन किसी भी मामले मे एंटीबायोटिक्स तभी दिया जाता है जब टेस्ट पॉज़िटिव हो। वायरल इन्फेक्शन मे एंटीबायटिक लेने का कोई लाभ नहीं होता।

Leave a Comment