पेट दर्द से आराम पाने का घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खा

पेट दर्द से आराम पाने का दादी माँ का घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खा – Home remedies for Stomach Pain

पेट दर्द एक आम समस्या हो गई है और एक व्यक्ति अपने चिकित्सक को दर्द के स्थान, प्रकार और तीव्रता पर ध्यान केंद्रित करके पेट की परेशानी या दर्द के स्रोत का निदान करने में मदद कर सकता है। पेट दर्द को मोटे तौर पर कई कारणो में विभाजित किया जा सकता है जैसे की नाभि के नीचे पेट दर्द के कारण होना, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण होना, पेट के बीच में दर्द होना या पेट के राइट साइड में दर्द होना। आइए जानते है पेट दर्द से आराम पाने का घरेलू उपाय – Home Remedies For Stomach Pain के बारे में।

home remedies for stomach pain, पेट दर्द, पेट में दर्द, नाभि के नीचे पेट दर्द के कारण, पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द के कारण, पेट दर्द की टेबलेट नाम, पेट के निचले हिस्से में दर्द के कारण क्या है, पेट दर्द की दवा, पेट के बीच में दर्द होना, पेट के राइट साइड में दर्द, पेट दर्द का देसी उपचार, पेट दर्द के घरेलू उपाय,
पेट दर्द से आराम पाने का घरेलू उपाय – Home Remedies For Stomach Pain

पेट के दर्द क्यों होता है? – Why Does Stomach Pain Occur?

पेट के दर्द की उत्पत्ति अधिक गरिष्ट व गैस कारक खाद्य-पदाथों के सेवन से होती है। जब कोई खाद्य पदार्थ देर तक नहीं पचता और गैस की उत्पत्ति कस्ता है तो पेट में दर्द होने लगता है। छोटे बच्चे हर समय कुछ-न-कुछ खाते-पीते रहते हैं। एक बार भोजन करने के बाद स्वादिष्ट, चटपटे खाद्य पदार्थ देखकर झट से खाने को तैयार हो जाते हैं।

भोजन की पाचन क्रिया से पहले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से पेट के दर्द होने लगता है। कुछ बच्चे खेलने, स्कूल जाने के चक्कर में इतनी जल्दी भोजन खाते हैं कि भोजन उदर मे देर तक पच नहीं पाता और फिर उदर मे शूल की उत्पत्ति होने लगती हे।

भोजन करने के बाद उछलकूद करने, दौड़ने और सीढियां चढ़ने उतरने से भी पेट में दर्द होने लगता है। कुछ बच्चों और वयस्को में सुबह देर से उठने की बुरी आदत होती है। ऐसे स्त्री-पुरुष और बच्चे समय पर सौच नहीं जाते।

समय पर शौच नहीं जाने से शौच नहीं आती। कई कई दिन शोच नहीं जाने से कब्ज हो जाती है। कब्ज के कारण अगो में मल एकत्र होने से पेट में दर्द होने लगता है।

पेट में दर्द की उत्पत्ति दूसरे रोग-विकारों के कारण भी हो सकती है। यकृत (जिगर) की खराबी, आमाशय के किसी रोग, आंत्रशोथ, अतिसार, प्रवाहिका (पेचिश), आंव-मरोड के कारण भी तीव्र पेट में दर्द होता है। वृवक शोथ अर्थात गुर्दों में सूजन होने पर मल का निष्कासन पूरी तरह नही होने पर पेट में दर्द होने लगता है। अजीर्ण रोग मे भी तीव्र पेट के दर्द होता है। गैस विकार (गैस) में इतना तीव्र पेट में दर्द होता कि रोगी पीड़ा से तड़प उठता है।

महिलाओं में पेट के निचले भाग में दर्द क्यों होता है

पेट दर्द पुरुष, स्त्री या बच्चे किसी को भी हो सकता है। पेट में दर्द खराब खाने की वजह से, पाचन संबंधी कई तरह की समस्‍याएं या फिर किसी तरह के इन्‍फेक्‍शन से भी हो सकता है। लेकिन महिलाओं में पेट के निचले भाग में दर्द होना कोई सामान्‍य नहीं है।

महिलाओं में पेट के निचले भाग में दर्द को मेडिकल भाषा में पीसीएस (PCS) कहते हैं जिसका फुल फॉर्म पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम। डॉक्‍टर्स कहते हैं कि महिलाओं में पेट के निचले भाग में दर्द की समस्या ६ महीने से ज्यादा समय तक चलती है तो उसे पीसीएस यानि पेल्विक कंजेशन सिंड्रोम हो सकता है।

पीरियड्स के दौरान, ज्यादा समय तक बैठने या खड़े होने से, गुर्दे का संक्रमण, शारारिक संबंध बनाते समय, यौन संक्रमण, अपेंडिक्स, प्रोस्टैटिस की सूजन से पेडू का दर्द होना, अंडाशय पुटिका जैसी बीमारी के कारण दर्द होता हैं।

यह भी पढ़े: पेट फूलना, पेट में गैस बनना या पेट में अफारा का इलाज और आयुर्वेदिक दवा

महिलाओं में पेट के निचले हिस्से में दर्द के कारण – Causes of Lower Stomach Pain in Women

पीरियड्स के दौरान दर्द महसूस होना.

यूरिन इन्फेक्शन की वजह से दर्द होना.

प्रोस्टैटिस की सूजन से पेडू का दर्द होना.

ज्यादा समय तक बैठने या खड़े होने से दर्द होना.

यौन संक्रमण की वजह से दर्द होना.

यूरीन के समय भारी दर्द होना.

अपेंडिक्स की वजह से दर्द होना.

शारारिक संबंध बनाते समय या बाद में दर्द होना.

गुर्दे का संक्रमण के वजह से दर्द महसूस होना.

संवेदनशील आंत की बीमारी की वजह से दर्द होना.

मूत्र मार्ग में संक्रमण से दर्द होना.

महिलाओं में पेट के निचले हिस्से में दर्द के उपाय – Home Remedies for Lower Stomach Pain in Women

रेशेदार खाद्य पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करने से कब्ज की शिकायत नहीं होगी क्योंकि कब्ज की समस्या की वजह से भी दर्द होता है।

पर्याप्त मात्रा में रेशेदार फल, हरी पत्तेदार सब्जियां, अनाज, टमाटर, साबुत दालें, खीर या बीन्स खाएं।

पानी अधिक से अधिक मात्रा में पिएं.

नियमित व्यायाम करने से भी दर्द में राहत मिलेगी.

काफी, चाय या कोल्ड ड्रिंक्स से दूर ही रहे या कम मात्रा में सेवन करे.

हर्बल टी का सेवन करे.

ज्यादा दर्द होने पर थोड़ी देर आराम करने से भी दर्द में रहत मिलेगी.

पेट दर्द से आराम पाने का घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खा – Home remedies for Stomach Pain

कब्ज के कारण पेट में दर्द होने पर कब्ज को नष्ट करने के लिए हरड़ का चूर्ण 3 ग्राम मात्रा में हलके गर्म जल से सेवन करे, इससे कब्ज के साथ साथ पेट में दर्द भी नष्ट होगा।

सोंठ को पीसकर चूर्ण बनाकर रखें। सोठ का चूर्ण 3 ग्राम सेंधा नमक मिलाकर हल्ले गुनगुना पानी से सेवन कराने पर पेट के दर्द नष्ट होता है।

हींग को गुनगुना पानी में घोलकर नाभि के आस…पास गाढा लेप करने से पेट के दर्द से मुक्ति मिलती है।

काला नमक, सोंठ और भुनी हुई हींग का चूर्ण बनाकर 3 ग्राम चूर्ण गुनगुना पानी से सेवन करने पर अफारे(पेट फूलना) के कारण उत्पन्न पेट के दर्द नष्ट होता है।

सेधा नमक, काला नमक, बिड लवण (नौसादर), चव्य, चित्रक, सुण्थी, पिप्पली मूल और हींग सभी बराबर मात्रा में लेकर कूट-पीसकर चूर्ण बनाएं। इसमे से 3 ग्राम चूर्ण गुनगुना पानी के साथ सेवन करने से कफ विकृति से उत्पन्न शूल नष्ट होता है।

एरंड का तेल 10 ग्राम दूध में मिलाकर पीने से कब्ज होने पर पेट के दर्द नष्ट होता है।

त्रिफला के 3 ग्राम चूर्ण में 3 ग्राम मिश्री मिलाकर हल्ले गुनगुना पानी के साथ सेवन करने से अनेक प्रकार के पेट के दर्द नष्ट होते हैं।

आधे नीबू के रस मे थोड़ा-सा सेधा नमक मिलाकर 100 ग्राम जल में डालकर पीने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

अजवायन और काला नमक बराबर मात्रा मे पीसकर 3 ग्राम मात्रा मे गुनगुना पानी के साथ सेवन करने पर पेट के दर्द का निवारण होता है।

पोदीने के सात पत्ते और छोटी इलायची का एक दाना पान के पत्ते में रखकर खाने से पेट के दर्द में बहुत लाभ होता है।

यह भी पढ़े: पथरी का रामबाण आयुर्वेदिक इलाज़ और घरेलू उपाय – Home Remedies For Kidney Stone in Hindi

पेट दर्द का देसी आयुर्वेदिक उपचार – Home remedies for Stomach Pain

10 ग्राम जामुन का सिरका 50 ग्राम जल में मिलाकर पिलाने से पेट के दर्द नष्ट होगा।

लहसुन का रस 3 ग्राम में थोड़ा-सा सेधा नमक मिलाकर खिलाने और ऊपर से गर्म जल पिलाने पर पेट के दर्द नष्ट होता है।

अननास के 10 ग्राम रस मेँ अदरक का रस 2 रत्ती, मुनी होंग 1 रत्ती औंर सेधा नमक 2 रत्ती मिलाकर सेवन करने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

अजमोद के चूर्ण मेँ काला नमक बराबर मात्रा मे मिलाकर 3 ग्राम चूर्ण गुनगुना पानी से सेवन करने पर अफारा (पेट फूलना) नष्ट होने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

तुलसी के पत्तों का रस और अदरक का रस 5-5 ग्राम मिलाकर थोड़े से गुनगुने जल में मिलाकर पीने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

2 ग्राम जीरा पीसकर थोड़ा-सा मधु मिलाकर चाटकर सेवन करें। ऊपर से थ्रोड़ा-सा गुनगुना पानी पीने से पेट के दर्द से मुक्ति मिलती हे।

गैस विकार(गैस) से पेट के दर्द होने पर 5 ग्राम हल्दी, इतना ही सेधा नमक मिलाकर हल्ले गुनगुना पानी से सेवन करने पर बहुत लाभ होता है।

20 ग्राम मूली के रस में थोड़ा-सा सेधा नमक और 4 काली मिर्च का चूर्ण मिलाकर सेवन करने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

जामुन में सेधा नमक लगाकर खाने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

पेट दर्द से आराम पाने का घरेलु उपाय – Home Remedies to Get Relief From Stomach Pain

पपीते को काटकर काली मिर्च और नीबू का रस डालकर, सेधा नमक के साथ खाने से कब्ज नष्ट होने से पेट के दर्द नहीं होता है।

संतरे के 20 ग्राम रस में थोडी-सी भुनी हींग और काला नमक मिलाकर पीने से पेट के दर्द नष्ट हो जाता है।

अनार के 30 ग्राम रस में थोडी-सी भुनी हींग और काला नमक मिलाकर पीने से पेट के दर्द नष्ट हो जाता है।

50 ग्राम इंद्रयव को 500 ग्राम जल मे उबालकर क्याथ (काढा) बनाकर 100 गाम क्याथ थोडी सी भुनी हींग मिलाकर पीने से पेट के दर्द नष्ट होता हे।

कुलंजन, सेधा नमक, धनिया, जीरा और किशमिश को बराबर की मात्रा में तेकर नीबू के रस के साथ पीसकर सेवन करें।

गुलाब के तीन फुल, मुलहठी, अजीर, मुनक्का और सौंफ 5-5 ग्राम लेकर 500 ग्राम जल में क्याथ बनाकर 100 ग्राम क्याथ पीने से कब्ज नष्ट होने पर पेट के दर्द नष्ट होता है।

कुलंजन, अजवाइन और काला नमक प्रत्येक 10-10 ग्राम कूट…पीसकर चूर्ण बनाकर रखे । इसमें से 3 ग्राम चूर्ण हल्ले गुनगुना पानी से ले।

3 ग्राम केसर को 3 ग्राम दालचीनी के साथ पीसकर गुनगुना पानी से सेवन करने पर पेट के दर्द नष्ट होता है।

अमरूद के कोमल 50 ग्राम पत्तो को पीसकर जल मे अच्छी तरह मिलाकर छान ले। इस जल को पीने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

यह भी पढ़े: पाचन क्रिया कैसे सुधारे – How to Improve Digestion Naturally At Home

पेट दर्द से आराम पाने का आयुर्वेदिक नुस्खे – Home remedies for Stomach Pain

कब्ज के कारण पेट के दर्द होने पर 250 ग्राम तक (मटूठा) मे भुना जीरा 5 ग्राम और काला नमक 5 ग्राम मिलाकर पीने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

अमरूद के फल की फुगनी थोड़े से सेंथा नमक के साथ मिलाकर खाने और गुनगुना पानी पीने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

अमलतास का गूदा 25 ग्राम में थोड़ा-सा नमक मिलाकर गोमूत्र के साथ पीसकर उदर लेप करने से पेट के दर्द शीघ्र नष्ट होता है।

अदरक का रस 5 ग्राम, नीबू का रस 5 ग्राम, काली मिर्च का चूर्ण 1 ग्राम मिलाकर पीने से पेट के दर्द नष्ट होता है।

हमारा आपसे निवेदन

हमारे प्रिय पाठको हमें उम्मीद है की आपको “पेट में दर्द या पेट दर्द से आराम पाने का घरेलू उपाय – home remedies for stomach pain“ लेख अच्छा लगा होतो अपने जरुरतमंद परिवार के सदस्यो तथा मित्रो के साथ जरूर शेयर करे। यदि आप हमसे प्रश्न करना चाहते हैं या फिर किसी भी प्रकार का घरेलु उपचार जानना चाहते हैं तो निचे दिए गए कमेंट बॉक्स में कमेंट करे।

अस्वीकरण: सभी जानकारी अच्छी है लेकिन आपको इसे अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही करना चाहिए। अन्यथा अपनी जिम्मेदारी के साथ उनका उपयोग करें।

Leave a Comment