कैल्शियम आयरन की कमी के लक्षण – Iron Deficiency Symptoms & Treatment

Iron Deficiency Symptoms & Treatment In Hindi

जब कोई बीमार हो जाता है तो सबसे पहले वह डॉक्टर के पास जाता है और यदि डॉक्टर कहता है कि आपको आयरन की कमी है तब लोगों को आयरन (Iron) के बारे में थोड़ी सी जानकारी होती है। आज हम आपके लिए आयरन की कमी को दूर करने के उपाय और iron ki kami ke lakshan in hindi में जानकारी देने वाले है।

iron ki kami ke lakshan in hindi, कैल्शियम आयरन की कमी के लक्षण, iron deficiency symptoms, iron deficiency treatment, iron in the body,
Iron Deficiency Symptoms And Treatment in Hindi

आपको बता दे आयरन जो कि हमारे रोजाना खाने वाली सब्जियों खाने में और फ्रूट्स में सभी में पाया जाता है। इसके कारण हीमोग्लोबिन (Hemoglobin) मांसपेशियों में एंजाइम की रासायनिक क्रियाओं को चलाते हैं। यह उनको बनाने में महत्वपूर्ण होता है। इसका सबसे अच्छा काम लाल रुधिर का कार्य करता है अगर आयरन का स्तर (Iron Levels) कम हो जाता है। हमारे शरीर में लाल रक्त कणिकाओं का आकार छोटा होने के कारण हमारे शरीर में हीमोग्लोबिन कम हो जाता और आयरन की कमी (Iron Deficiency) हो जाती है।

आयरन की कमी से शरीर में खून की कमी हो जाने के कारण एनीमिया नामक बीमारी हो जाती है। आइए जानते है कैल्शियम आयरन की कमी के लक्षण और उपचार और आयरन की कमी को दूर करने के उपाय, iron ki kami ke lakshan in hindi के बारे में – Iron deficiency symptoms and treatment.

आयरन की कमी से होने से दिखने वाले लक्षण – Iron Deficiency Symptoms

आयरन की कमी (Iron Deficiency) से हमारे शरीर में कमजोरी आ जाती है। उसके कारण हमें थकान, कमजोरी जल्दी महसूस होती है। आयरन की कमी से हमारी सांसे जल्दी फूल जाती हैं और बिना समय पर ही हमारे बाल सफेद होने लग जाते हैं। आयरन की कमी हमारी त्वचा को सफेद करने के लिए जिम्मेदार होते हैं। आयरन की कमी (Iron Deficiency) लोगों के लिए सबसे अधिक होती है अगर यह समस्या अधिक समय तक रहती है तो उन्हें खाने और निगलने में अधिक समस्या आती है।

नाखूनों के मुड़ने, नाखूनों की आकृति में परिवर्तन आदि की समय तब अधिक होती है जब शरीर में आयरन की कमी अधिक होती है। आयपफन कि कमी सबसे ज्यादा गर्ववती महिलायों, और बच्चों में सर्वधिक होती है जिसका कारण उनके शरीर का निरंतर विकाश होता है।

आयरन की कमी मासिक धर्म से पहले और बाद में महिलाओ और लड़कियों में अधिक होती है क्योंकि मासिक धर्म के दौरान यह रक्त का बहाव अधिक होता है, जिसके कारण आयरन की कमी हो जाती है। वैसे आप चाहो तो आयरन की कमी का परीक्षण (Iron Deficiency Test) करवा सकते है। यही है दिखने वाले iron ki kami ke lakshan in hindi.

आयरन की कमी को दूर करने के उपाय – Tips To Improve Iron

आयरन की कमी (iron ki kami) को दूर करने के लिए हमें क्या-क्या करना चाहिए और हमारी बॉडी में आयरन की कमी कैसे पूरी होती है। 

पालक का करें सेवन – Eat Spinach / Palak

आपको बता दे पालक में विटामिन A, B9 और E, कैल्शियम और फाइबर के साथ -2 प्रचुर मात्रा में आयरन भी उपस्थित होता है। इसका सेवन अपने खाने में करते रहना चाहिए। अच्छे फायदे के लिए इसे अच्छे से धोकर उसको चबा कर भी कहा सकते है। इसके लिए आप पालक की सब्जी भी कहा सकते है। इसके सेवन से आयरन की मात्रा खत्म हो जाती है।

खून की मात्रा बढ़ाने के लिए आप गाजर और चजकन्दर का जुश पिये तथा अच्छे फायदे के लिए एक गिलास चुकंदर के रस (Beetroot Juice) के साथ एक चम्मच शहद मिलाकर उसका सेवन करने से आयरन की कमी दूर हो जाती है।

नींबू पानी – Lemon Water

गर्मियों के समय में एक गिलास पानी में दो नींबू को निचोड़ कर पीने से आयरन कमी की मात्रा पूरी हो जाती है। इसके लिए आप नींबू को सेंधा नमक के साथ सेवन कर सकते है। इसके सेवन से आपके शरीर में आयरन की मात्रा पूरी हो जाएगी।

अंकुरित दाल – Bean Sprouts

आयरन की मात्रा बढ़ाने के लिए आप अंकुरित डाल का सेवन करे। इसके सेवन से आयरन की कमी खत्म हो जाती है।

Also Read

Calcium Rich Foods in Hindi

Best Food Sources for Vitamins and Minerals in Hindi

अधिक आयरन से साइड इफ़ेक्ट  –  Excess Iron Side Effects

हमारे अग्नाशय में आयरन की अधिकता होने से इन्सुलिन भरने वाली कोशिका ग्रस्त हो जाते हैं, इससे हीमोक्रोमेटोसिस के मरीज डायबिटीज के मरीज हो जाते हैं। और यह बाद में कैंसर के रूप धारण कर लेती है, यदि हमारे शरीर में आयरन की अधिकता (More Iron) हो जाती है या फिर लीवर में लोहे की अधिकता हो जाती है तो सिरोसिस नामक बीमारी हो जाती है।

ह्रदय की मांशपेशियों मैं यदि आयरन की मात्रा अधिक हो जाये तो हमारे ह्रदय की धड़कन बन्द होने के चांस रहते है। हाथ पैरों में यदि आयरन अधिक जमा हो जाये तो गठिया जैसी खतरनाक बीमारी होने का खतरा रहता है।

आयरन एनीमिया सोर्स (Iron Foods Source) (चिकन, फिश) आदि से शरीर में आता है तो उसकी उपलब्धता शरीर में अधिक होती है। कुछ खाद्य पदार्थ ऐसे होते हैं, जो कि भोजन में मौजूद आयरन की शरीर में उपलब्धता बढ़ाते हैं, जैसे की फिश, चिकन, संतरा, स्ट्राबेरी, अँगूर सब्जियों में ब्रोकली, टमाटर, आलू, मिर्च आदि।

हमारा आपसे निवेदन

हमारे प्रिय पाठको हमें उम्मीद है की आपको “कैल्शियम आयरन की कमी के लक्षण – Iron Deficiency Symptoms & Treatment in Hindi“ लेख अच्छा लगा होतो अपने जरुरतमंद परिवार के सदस्यो तथा मित्रो के साथ जरूर शेयर करे।

अगर आपके पास कुछ और अच्छे उपाय है जो आपने आजमाए है तो आप हमे E-mail कर सकते है या फिर निचे दिए गए Comment box में पोस्ट कर सकते है।

Leave a Comment